स्क्रैमजेट इंजन – टीडी (वायु श्वसन नोदन)

F05एक वायु श्वसन नोदन प्रणाली की प्रप्ति की दिसा में इसरो के स्क्रैमजेट इंजन का प्रथम प्रयोगात्मक अभियान अगस्त 28, 2016 को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र शार, श्रीहरिकोटा से सफलता पूर्वक किया गया।

करीब 300 सैकेंड की उड़ान के बाद, श्रीहरिकोटा से लगभग 320 कि.मी. दूरी पर, यह यान बगाल की खाड़ी में अवतरित हुआ। उड़ान के दौरान श्रीहरिकोटा के भू-स्टेशनों से इस यान का सफलतापूर्वक अनुवर्तन किया गया। इस उड़ान के साथ, पराध्वनिक गति परवायु श्वसन इंजनों के प्रज्वलन, वायु अंतर्ग्रहण क्रियाविधि तथा ईंधन अंतःक्षेपण प्रणालियों जैसी क्रांतिक प्रौद्योगिकियां सफलता पूर्वक प्रदर्शित की गई हैं।

इसरो द्वारा अभिकल्पित स्क्रैमजेट इंजन ईंधन के रूप में हाइड्रोजन तथा ऑक्सीकारक के रूप में वायुमंडल के ऑक्सीजन का उपयोग करता है। यह परीक्षण माख 6 पर अतिध्वनिक उडान के साथ इसरो के स्क्रैमजेट इंजन का इदंप्रथम अल्पावधिक प्रयोगात्मक परीक्षण था। इसरो का उन्नत प्रौद्योगिकी यान (एटीवी), जो एक उन्नत परिज्ञापी रॉकेट है, पराध्वनिक स्थितियों पर स्क्रैमजेट इंजनों के परीक्षण के लिए प्रयुक्त ठोस रॉकेट बूस्टर था। उत्थापन पर स्क्रैमजेट इंजनों के साथ एटीवी का वजन 3277 कि.ग्रा. होता है।

 

 

 

 

 

 

 

Save