वायु श्वसन नोदन

LVM3 ऊर्जा को व्युत्पन्न करने के लिए प्रमोचन यान ऑक्सीकारक तथा ईंधन से युक्त नोदकों के दहन का उपयोग करता है। वायु श्वसन नोदन प्रणालियां वायुमंडलीय ऑक्सीजन, जो युगपत् भंडारित ईंधन के ज्वलन हेतु पृथ्वी की सतह के करीब 50 कि.मी. तक उपलब्ध है व प्रणाली को अधिक हल्की, अधिक प्रभावी तथा किफायती बनाती है, का उपयोग करती हैं। वायु श्वसन नोदन, पुनरुपयोगी प्रमोचन यानों के लिए आवश्यक ऊर्जित दीर्घ वापसी क्रूइस उड़ान के लिए एक समाधान है। वायु के संग्रहण व उपयोग में चुनौतियां हैं चूंकि प्रमोचन यान वायुमंडल के माध्यम से पराध्वनिक गतियों पर जाता है। यह रैमजेट या स्क्रैमजेट (पराध्वनिक दहन रैमजेट) प्रौद्योगिकियों के विकास की मांग करता है।

दोहरी रैमजेट (डीएमआरजे), रैमजेट-स्क्रैमजेट समन्वयन, विकासाधीन है, जो प्रमोचन यान के मैक 3 से मैक 9 तक की निर्णायक आरोहण उड़ान के दौरान प्रचालित किया जाएगा। डीएमआरजे उड़ान के प्रौद्योगिकी प्रदर्शन हेतु परिज्ञापी रॉकेट पर आधारित एक उन्नत प्रौद्योगिकी यान (एटीवी) का विकास किया गया और एक विकासात्मक उड़ान एटीवी-डी01 चलाई गई। निकट भविष्य में और विकासात्मक उड़ानों की योजना है।