चांद्र अन्वेषण

चंद्रयान-I

चंद्रमा की ओर भारत का सर्वप्रथम अभियान चंद्रयान-1 का प्रमोचन एसडीएससी शार, श्रीहरिकोटा से 22अक्तूबर, 2008 को सफलतापूर्वक किया गया। चंद्रमा के रासायनिक, खनिजीय और प्रकाश-भूगर्भीय मानचित्रण हेतु चंद्र सतह से 100 कि.मी. की ऊंचाई पर चंद्रमा के चारों ओर अंतरिक्षयान भ्रमण कर रहा था। अंतरिक्षयान भारत, यूएसए, यूके, जर्मनी, स्वीडन व बुल्गारिया में निर्मित 11 वैज्ञानिक उपकरणों को अपने साथ लेकर गया था। अधिक पढ़ें...


चंद्रयान-2

चंद्रयान-2, चंद्रमा के लिए पिछले चंद्रयान-1 अभियान का उन्नत रूपांतर होगा। चंद्रयान-2 का संरूपण दो मॉड्यूल प्रणाली के रूप में किया गया है, जिसमें एक कक्षित्र यान मॉड्यूल (ओसी) और दूसरा इसरो द्वारा विकसित रोवर का वहन करनेवाला अवतरक यान मॉड्यूल (एलसी) समाहित हैं। अधिक पढ़ें...