1. अनुसंधान अवसर
  2. अनुसंधान विषय

वायुमंडलीय, अंतरिक्ष तथा ग्रहीय विज्ञानों के क्षेत्रों में अग्रणी अनुसंधान करने के लिए एसपीएल में बड़ी संख्या में अवसर उपलब्ध हैं। इन अवसरों को निम्नलिखित श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है।

1) अध्येता (डॉक्टरल अध्येतावृत्ति:

एसपीएल को एक विशिष्ट अध्येता कार्यक्रम है, जिसमें वर्ष के किसी भी समय पर करीब 20 से 25 छात्र रहते हैं। एसपीएल द्वारा हर वर्ष, जून-अगस्त की अवधि के दौरान आयोजित लिखित परीक्षा तथा साक्षात्कारों के ज़रिए 5 से 6 कनिष्ठ अध्येताओं (जेआरएफ) की भर्ती की जाती है। मार्च-अप्रैल के आस-पास राष्ट्रीय दैनिकियों में दिए जानेवाले विज्ञापनों द्वारा जेआरएफों के लिए ऑन-लाइन आवेदन आमंत्रित किए जाते हैं।

ये पद भौतिकी/अनुप्रयुक्त भौतिकी/अंतरिक्ष भौतिकी/मौसमविज्ञान/वायुमंडलीय विज्ञान या अन्य संबद्ध क्षेत्र में विज्ञान स्नातकोत्तर (एम.एससी.)

अथवा

इलेक्ट्रॉनिकी सहित उपर्युक्त में से किसी भी विषय में विशेषज्ञता के साथ एम.एससी भौतिकी

अथवा

वायुमंडलीय/अंतरिक्ष/ग्रहीय विज्ञान/अनुप्रयुक्त भौतिकी या संबद्ध क्षेत्रों में तकनीकी स्नातकोत्तर (एम.टेक.) की उपाधि रखनेवाले अभ्यर्थियों के लिए हैं।

चयनित छात्र, पहले पाठ्यक्रम कार्य के अधीन रहते हैं तथा तत्पश्चात् एसपीएल के एक वरिष्ठ संकाय की देख-रेख में कार्य करते हैं। अनुसंधान के लिए चयनित सभी छात्रों को अध्येतावृत्ति प्राप्त होती है, जिसे सर्वाधिक 5 वर्षों तक बढ़ाया जा सकता है। हर साल एसपीएल की शैक्षणिक समिति द्वारा आयोजित समीक्षा तथा वीएसएससी द्वारा आयोजित बाहरी समीक्षा में अभ्यर्थी के पास हेने के बाद वह अध्येतावृत्ति बढ़ाई जाती है। वर्तमान में अध्येतावृत्ति प्रथम 2 वर्षों के लिए प्रतिमाह रु. 14,000/- और तीसरे वर्ष से आगे प्रतिमाह रु. 18,000/- की दर से है। एचआरए सरकारी नियमों के अनुसार है।

2) अनुसंधान सहयोगी (पोस्ट डॉक्टरल अनुसंधान अध्येतावृत्ति:

एसपीएल में दो प्रकार के पोस्ट डॉक्टरल अध्येतावृत्ति (पीडीएफ) कार्यक्रम हैं।

(a) एसपीएल के अध्येताओं को उनके पीएचडी शोधपत्र प्रस्तुत करने के बाद, प्रयोगशाला की पीडीएफ समिति द्वारा आयोजित साक्षात्कार के आधार पर पीडीएफ का पद दिया जाता है। अभ्यर्थी को अनुसंधान प्रस्ताव के साथ आवेदन प्रस्तुत करना है। यह पीडीएफ साधारणतया 2 वर्षों की अवधि के लिए है, जिसे अपवादी मामलों में एक और वर्ष के लिए बढ़ाया जा सकता है।

(बी) पीडीएफ का दूसरा प्रकार बाहर के पीएचडी धारकों के लिए है। इस पीडीएफ का आवेदन वर्ष में किसी भी समय निदेशक, एसपीएल को अपने जीवन-वृत्त व प्रकाशन सूची के साथ अनुसंधान प्रस्ताव प्रस्तुत कर दे सकता है। एसपीएल द्वारा आयोजित साक्षात्कार के आधार पर चयन किया जाता है। किसी भी समय इस श्रेणी के पीडीएफ पदों की संख्या पांच हैं। इन पदों से संबंधित कोई भी पूछताछ सीधे निदेशक, एसपीएल के पास भेजी जा सकती है।

3) आगंतुक वैज्ञानिक (वीएस):

एसपीएल का एक आगंतुक वैज्ञानिक (वीएस) कार्यक्रम है, जिसे या तो एड्कोस वीएस कार्यक्रम द्वारा या फिर सीधे एसपीएल द्वारा प्रचालित किया जाता है, जहां एड्कोस आरएफएस (एड्रेफ) के ही दिश-निर्देशों का अनुपालन किया जाता है।

ये पद वरिष्ठ वैज्ञानिकों के लिए हैं जिन्हें पर्याप्त अनुभव हो और जो कहीं ओर स्थाई पद धारण करते हैं। आवेदन वर्ष के किसी भी समय निदेशक, एसपीएल को दे सकते हैं। इन पदों से संबंधित कोई भी पूछताछ सीधे निदेशक, एसपीएल के पास भेजी जा सकती है।


अनुसंधान विषय निम्नलिखित हैं।

1) वायुमंडलीय ऐरोसोल मेघ रसायनविज्ञान एवं विकिरण:

• ऐरोसोलों का भौतिक अभिलक्षणीकरण

• ऐरोसोलों का रासायनिक अभिलक्षणीकरण

• इनसिटु का प्रयोग करनेवाले अनुरेख गैसों तथा उपग्रह आधृत प्रेक्षण पर अध्ययन

• भू उत्सर्जकता तथा सतह अभिलक्षणीकरण के लिए उपग्रह माइक्रोवेव सुदूर संवेदन पर अध्ययन

• मेसोस्केल संवहनी प्रणालियों पर अध्ययन

• माइक्रोवेव रेडियोमेट्रिक प्रेक्षण

• जीपीएस नौसंचालन तथा संचार अनुप्रयोगों के लिए माइक्रोवेव प्रचार अध्ययन

• मिट्टी की नमी तथा तापमान पर अध्ययन

2) वायुमंडल गतिकी शाखा:

• वायुमंडलीय तरंग तथा दोलन

• निम्नतर-माध्यमिक-ऊपरी वायुमंडल युग्मन प्रक्रियाएं

• निम्न तथा उच्च अक्षांश युग्मन प्रक्रियाएं

• समताप मंडल-क्षोभ मंडल विनिमय प्रक्रियाएं

• उष्णकटिबंधी क्षोभ सीमा गतिकी

• क्षोभ गतिकी

• मध्य-वायुमंडलीय प्रतिरूपण

3) परिसीमा स्तर भौतिकी एवं वायुमंडलीय प्रतिरूपण

• तुंबा के ऊपर तटीय एबीएल प्रक्रियाओं का अभिलक्षणीकरण

• वायुमंडलीय प्रतिरूपों के माध्यम से सांख्यिकीय मौसम पूर्वानुमान

• क्षेत्रीय जलवायु प्रतिरूपण

• वायुमंडलीय प्रतिरूपों के प्राचलीकरण में सुधार

• समुद्री एबीएल अभिलक्षणों के अध्ययन हेतु जहाज़-वाहित क्षेत्र प्रयोग

• वर्षा अध्ययन (डिस्ड्रोमीटर तथा माइक्रो-रेन रेड़ार)

4) आयनमंडल-तापमंडल-चुंबकमंडल भौतिकी

• भूमध्यरेखीय इलेक्ट्रोजेट अध्ययन

• स्प्रेड-एफ

• कुल इलेक्ट्रॉन अंश

• वायुमंडल-आयनमंडल युग्मन

• ब्लैंकेटिंग ई

• ई-क्षेत्र की अनियमितताएं

• भू-चुंबकीय तूफान

• अंतरिक्ष मौसम

5) ग्रहीय विज्ञान शाखा

• सौर परिवार की वस्तुओं (ग्रह, उपग्रह, धूमकेतु) तथा सौर पवन व सौर विकिरण से उनकी अन्योन्यक्रिया पर अनुसंधान

6) वायुमंडलीय प्रौद्योगिकी प्रभाग

•निम्नलिखित परियोजनाओं में अनुसंधान के अवसर उपलब्ध हैं।

• आंशिक परावर्तन रेडार

• एचएफ रेडार

• आयनोसोन्डे

• सीडब्ल्यू लिडार (सीडब्ल्यूएल)

• बहु तरंगदैर्घ्य रेडियोमीटर (एमडब्ल्यूआर)

• स्वचालित सूर्य अनुवर्तन विकिरणमापी/span>

• चेस (चंद्रास आल्टिट्यूडिनल कंपोज़ीशन एक्सप्लोरर)

• चंद्रयान-। अभियान के लिए एसएआरए

• बहु तरंगदैर्घ्य दिन दीप्ति फोटोमीटर

next
prev